Important Hindi Grammar for Class 7 : हिन्दी व्याकरण (Hindi Vyakaran)

Learn Hindi Grammar with PDF book worksheets for Class 7. It is based on CBSE / NCERT syllabus which includes various topic such as Sarvanam, Visheshan, Kriya, Kaal, Samvad Lekhan etc. from beginner to advanced level.

Please read Hindi Grammar for Class 5, Class 6, Class 7, Class 8, Class 9, Class 10 for Complete Hindi Grammar Content(पूरा हिंदी व्याकरण).

Table of Contents

सर्वनाम Sarvnam (Pronoun) in Hindi

Sarvnam in Hindi
Hindi Grammar for Class 7

जिन शब्दों का प्रयोग संज्ञा के स्थान पर किया जाता है, उन्हें सर्वनाम कहते है। सर्वनाम यानी सबके लिए नाम। इसका प्रयोग संज्ञा के स्थान पर किया जाता है। अथार्त संज्ञा के स्थान पर प्रयुक्त होने वाले शब्दों को सर्वनाम कहते हैं।

Hindi Grammar for Class 7

सर्वनाम शब्द : परिभाषा, भेद, उदाहरण– (Sarvanam ke Shabd)

मै, तू, वह, आप (स्वयं), कोई, यह, ये, वे, हम, तुम, कुछ, कौन, क्या, जो, सो, उसका आदि।

सर्वनाम  उदाहरण (Sarvanam examples in Hindi)

  1. नेहा केंद्रीय विद्यालय की विद्यार्थी है।
  2. वह ( नेहा ) हर रोज़ पढाई करती है।
  3. उसके ( नेहा के ) पास बहुत सारे किताबे है।
  4. उसे ( नेहा को ) खेलना बहुत पसंद है।
  • ऊपर दिए गए वाक्यों में ‘ नेहा ‘ शब्द संज्ञा है।
  • ‘नेहा’ नाम के स्थान पर वह, उसके, उसे का प्रयोग किया है।

सर्वनाम के भेद (Sarvanam ke Bhed)

(1)पुरुषवाचक सर्वनाम (Personal pronoun) Purushvachak Sarvanam

(2)निश्चयवाचक सर्वनाम (Demonstrative pronoun) Nishchay vachak Sarvanam

(3)अनिश्चयवाचक सर्वनाम (Indefinite pronoun) Anishchay vachak Sarvanam

(4)संबंधवाचक सर्वनाम (Relative Pronoun) Sambandh vachak Sarvanam

(5)प्रश्नवाचक सर्वनाम (Interrogative Pronoun) Prashna vachak Sarvanam

(6)निजवाचक सर्वनाम (Reflexive Pronoun) Nijvachak Sarvanam

पुरुषवाचक सर्वनाम :- Purushvachak Sarvanam

जिन सर्वनाम शब्दों से व्यक्ति का बोध होता है, उन्हें पुरुषवाचक सर्वनाम (Purushvachak Sarvanam) कहते है।
जैसे –  मैं जाता हूँ।
तुम पढ़ाई करो।
वह नाचता है।

  • पुरुषवाचक सर्वनाम के प्रकार (Purushvachak Sarvanam ke Bhed)
    • उत्तम पुरुषवाचक – जिन सर्वनामों का प्रयोग बोलने वाला अपने लिए करता है, उन्हें उत्तम पुरुषवाचक कहते है।
      जैसे – हम, मैं, हमारा, मुझको, मैंने, मेरा आदि । मैं स्नान करने जाऊंगा।
    • मध्यम पुरुषवाचक – जिन सर्वनामों का प्रयोग सुनने वाले के लिए किया जाता है, उन्हें मध्यम पुरुषवाचक कहते है।
      जैसे- तुम्हे, आप, तुम, तू, तुमसे आदि। तुमसे कुछ बात करनी है।
    • अन्य पुरुषवाचक – जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग किसी अन्य व्यक्ति के लिए किया जाता है, उन्हें अन्य पुरुषवाचक कहते है।
      जैसे – वह, वे, यह, उन्होंने, इन्हें आदि। वह खेलने आएगा।

निश्चयवाचक सर्वनाम :- Nishchay vachak Sarvanam

जो सर्वनाम किसी वस्तु या व्यक्ति का बोध करता है , उसे निश्चयवाचक सर्वनाम कहते हैं।
जैसे- ये , वह, यह, वे आदि।
उदहारण – परेश खरीदारी करने गया था, बस अब वह लौट आया है।
यहाँ ‘वह’ किसी व्यक्ति का बोध करता है इसलिए निश्चयवाचक सर्वनाम।

अनिश्चयवाचक सर्वनाम :- Anishchay vachak Sarvanam

जो सर्वनाम किसी वस्तु या व्यक्ति की ओर ऐसे संकेत करें कि उनकी स्थिति अनिश्चित या अस्पष्ट रहे, उन्हें अनिश्चयवाचक सर्वनाम कहते है।
जैसे- कुछ, किसी, कोई आदि।
उदहारण – आसमान में कुछ दिखाई दे रहा है।
यहाँ ‘कुछ’ वस्तु का अनिश्चित बोध कराता है इसलिए अनिश्चयवाचक सर्वनाम।

संबंधवाचक सर्वनाम :- (Sambandh vachak Sarvanam)

जो सर्वनाम वाक्य में प्रयुक्त किसी अन्य सर्वनाम से सम्बंधित हों, उन्हें संबंधवाचक सर्वनाम कहते है।
जैसे- जिसने, जैसा, वैसा, जो, सो आदि।
उदहारण – जैसा करोगे, वैसा भरोगे।
वाक्यों में ‘जैसा’ और  ‘वैसा’  दो वाक्यों को जोड़ते है, उन्हें संबंधवाचक सर्वनाम कहते है।

प्रश्रवाचक सर्वनाम :- (Prashna vachak Sarvanam)

प्रश्न करने के लिए जिन सर्वनामों का प्रयोग होता है, उन्हें ‘प्रश्नवाचक सर्वनाम‘ कहते है।
जैसे – किसने, कौन, क्या आदि।
उदहारण – क्या तुम खाना चाहोगे?
वाक्यों में ‘क्या’ का प्रयोग हुआ है। इसलिए उसे प्रश्रवाचक सर्वनाम कहते है।

निजवाचक सर्वनाम :- (Nijvachak Sarvanam)

जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग कर्ता के साथ अपनेपन का ज्ञान कराने के लिए किया जाए, उन्हें निजवाचक सर्वनाम कहते हैं।
जैसे- आप ही, अपने आप, खुद आदि।
उदहारण – आप कहाँ जा रहे है।
इस वाक्य में ‘आप’ वक्ता द्वारा श्रोता के लिए प्रयोग किया जा रहा है।

Read more- 50 Best Inspirational Quotes on life in Hindi

विशेषण – परिभाषा, भेद और उदाहरण (Visheshan in Hindi)

Visheshan in Hindi
Hindi Grammar for Class 7

जो शब्द संज्ञा या सर्वनाम की विशेषता बताते है, उन्हें विशेषण कहते है। विशेषण जिसकी विशेषता बताता है, उसे विशेष्य कहते है।
जैसे – रतन बहुत तेज़ दौड़ने लगा।
रतन – विशेष्य
बहुत – प्रविशेषण
तेज़ – विशेषण

विशेषण के चार भेद है (Visheshan ke Bhed)

  1. गुणवाचक विशेषण (Gunvachak Visheshan)
  2. संख्यावाचक विशेषण (Sankhya visheshan)
  3. परिमाणवाचक विशेषण (Pariman Vachak Visheshan)
  4. सार्वनामिक विशेषण (Sarvanamik Visheshan)

गुणवाचक विशेषण (Gunvachak Visheshan)

जिन शब्दों द्वारा संज्ञा के गुण अथवा दोष का बोध होता है, उन्हें गुणवाचक विशेषण कहते है।
गुणवाचक विशेषण के कुछ उदाहरण –
स्थान- मैदानी, पंजाबी, शहरी, ग्रामीण आदि।
समय – साप्ताहिक, मासिक, सायंकालीन आदि।
रंग – पीला, सफ़ेद, हरा, लाल, नारंगी आदि।
आकार – सुन्दर, लम्बा, नीचा, ऊँचा आदि।

संख्यावाचक विशेषण (Sankhya Visheshan)

जिन विशेषण शब्दों से संज्ञा की संख्या का बोध होता है, उन्हें संख्यावाचक विशेषण कहते है।
जैसे – एक किताब, चार लैपटॉप्स, कुछ रुपये, तीन मोबाइल्स आदि।

संख्यावाचक विशेषण के प्रकार (sankhya vachak visheshan ke bhed)

  • निच्छित संख्यावाचक – जिन विशेषण शब्दों से निच्छित संख्या का बोध होता है , उन्हें निच्छित संख्यावाचक विशेषण कहते है।
    जैसे – पहला, दूसरा, तीसरा, एक, दो,तीन, दोनों, तीनों, चारों आदि।
  • अनिच्छित संख्यावाचक – जिन विशेषण शब्दों से अनिच्छित संख्या का बोध होता है, उन्हें अनिच्छित संख्यावाचक विशेषण कहते है।
    जैसे – कुछ किताबे, थोड़े पैसे आदि।

परिमाणवाचक विशेषण (Pariman Vachak Visheshan)

जिन विशेषण शब्दों द्वारा संज्ञा की मात्रा का बोध होता है उन्हें परिमाणवाचक विशेषण कहते है।

परिमाणवाचक विशेषण के प्रकार (Pariman Vachak visheshan ke bhed)

  • निच्छित परिमाणवाचक – जिन विशेषण शब्दों से संज्ञा की निच्छित मात्रा का बोध होता है, उन्हें निच्छित परिमाणवाचक विशेषण कहते है।
    जैसे – दो किलो आलू, चार लीटर दूध आदि।
  • अनिच्छित परिमाणवाचक – जिन विशेषण शब्दों से संज्ञा की अनिच्छित मात्रा का बोध होता है उन्हें अनिच्छित परिमाणवाचक विशेषण कहते है।
    जैसे – थोड़ा पानी, कुछ पैसे आदि

सार्वनामिक विशेषण (Sarvanamik Visheshan)

जो सर्वनाम शब्द संज्ञा के लिए विशेषण का काम करते है, उन्हें सार्वनामिक विशेषण कहते है।
जैसे – कौन, कोई, वह, क्या, वैसा आदि।
उदहारण – वह सेठ के यहाँ काम करता है।

Read more – New Champak Stories in Hindi

क्रिया Kriya (Verb) in Hindi

क्रिया की परिभाषा, क्रिया के भेद और उदाहरण
जिस शब्द के द्वारा किसी कार्य के करने या होने का बोध होता है उसे क्रिया (Kriya) कहते है। हिन्दी भाषा में क्रिया रूप लिंग, वचन और पुरुष के अनुसार बदलते है।
जैसे- लिखना, पीना, सोना, चलना आदि।

क्रिया के दो मुख्या भेद Kriya ke bhed

सकर्मक क्रिया – जिन क्रियाओं के कार्य का फल कर्ता को छोड़कर कर्म पर पड़ता है उन्हें सकर्मक क्रिया कहते है।
जैसे – पिताजी ने लड़की को खाना खिलाया

अकर्मक क्रिया – जिन क्रियाओं के कार्य का फल कर्ता में ही रहता है उन्हें अकर्मक क्रिया कहते है।
जैसे – रमेश पानी पि रहा है।

Read more- Best Motivational Moral Story in Hindi

काल Kal (Tense) in Hindi

काल की परिभाषा, क्रिया के भेद और उदाहरण
जिस रूप से क्रिया के होने के समय का बोध हो, उसे काल (Kaal) कहते हैं।

काल के भेद Kal ke Bhed in Hindi

भूतकाल Bhutkal – क्रिया के जिस रूप से कार्य की समाप्ति का बोध हो उसे भूतकाल कहते है।

भूतकाल के छह भेद होते है– Bhutkal ke bhed

सामान्यभूत काल– क्रिया के जिस रूप से बीते हुए समय का निच्छित ज्ञान न हो उसे सामान्यभूत काल कहते है।

आसन्नभूत काल– क्रिया के जिस रूप से यह पता चले कि क्रिया अभी कुछ समय पहले ही पूर्ण हुई हैं उसे  आसन्नभूत काल कहते है।

संदिग्धभूत काल– क्रिया के जिस रूप से बीते समय में कार्य के पूर्ण होने या न होने में संदेह जाता है उसे संदिग्धभूत काल कहते है।

पूर्णभूत काल– क्रिया के जिस रूप से बीते समय में कार्य की समाप्ति का पूर्ण बोध होता है उसे पूर्णभूत काल कहते है।

अपूर्णभूत काल – जब  क्रिया भूतकाल में हो रही थी लेकिन उसकी समाप्ति का पता न चले उसे अपूर्णभूत काल कहते है।

हेतुहेतुमभूत काल – जब क्रिया भूतकाल में होने वाली थी पर किसी कारन न हो सकीय उसे हेतुहेतुमभूत काल कहते है।

वर्तमान काल Vartaman kaal – क्रिया के जिस रूप से वर्तमान समय में क्रिया का उपयोग हो जाये उसे वर्तमान काल कहते है।

वर्तमान काल के भेद Vartaman kaal ke bhed

सामान्य वर्तमान काल – क्रिया के जिस रूप जिससे वर्तमान काल में उपयोग हो जाए उसे सामान्य वर्तमान काल कहते है।

अपूर्ण वर्तमान काल – क्रिया के जिस रूप से वर्तमान काल में क्रिया का अपूर्ण भावना होता है उसे अपूर्ण वर्तमान काल कहते है।

संदिग्ध वर्तमान काल – क्रिया के जिस वर्त्तमान काल में क्रिया के होने का संदेह हो उसे संदिग्ध वर्तमान काल कहते है।

भविष्यत काल Bhavishya kaal – क्रिया के जिस रूप से भविष्य में होने वाली क्रिया है भावना होता है उसे भविष्यत काल कहते है।

भविष्यत काल के दो मुख्या भेद – Bhavishya kaal ke bhed

सामान्य भविष्यत काल– क्रिया के जिस रूप से क्रिया भविष्य में होगी उसकी जानकारी हो उसे सामान्य भविष्यत काल कहते है।

संभाव्य भविष्यत् काल– क्रिया का जो रूप जिससे कार्य के होने का  संभावना का बोध हो, उसे संभाव्य भविष्यत् काल कहते है।

Read more-  Hindi Varnamala of Swar and Vyanjan in Hindi

संवाद Samvad lekhan in Hindi

Samvad lekhan in Hindi
Hindi Grammar for Class 7

दो या दो से अधिक व्यक्तियों के बीच हुए वार्तालाप या सम्भाषण को संवाद Samvad कहते हैं।
परीक्षा में किसी भी विषय पर दो लोगों के बीच की बातचीत लिखने के लिए कहेंगे।

मरीज़ और चिकित्सक के बीच संवाद Samvad lekhan Hindi grammar

मरीज़ : डॉक्टर क्या मैं अंदर आ सकता हु?
चिकित्सक : हाँ। आप आ  सकते हैं। बोलों आपकी मैं क्या सहायता कर सकता हु।
मरीज़ : मुझे पेट में दर्द हो रहा है, और बीच बीच में उल्टी भी हो रही है।
चिकित्सक : ओह। समझा। क्या आप बहार का खाना खाते हैं!??
मरीज़ : हाँ। मैं हमेशा बाहर ही खाता हूं। क्या हुआ उस मे क्या खराबी है?
चिकित्सक : आप रोज बाहर का खाना खाते हैं। इसलिए आपको समस्या हो रही है। आपको स्वस्थ भोजन खाना होगा और इतना जंक फूड नहीं खाना चाहिए।
मरीज़ : अब में समज गया डॉक्टर।
चिकित्सक : मैं आप को कुछ दवाइया देता हु। और हर दिन बाहर का खाना से बचके रहना।
मरीज़ : शुक्रिया डॉक्टर।

माँ और बेटे के बीच संवाद Samvad lekhan Hindi grammar

मां : दिन-ब-दिन आपके परीक्षा में  स्कोर कम होते जा रहे हैं। इसका कुछ कारन है तुम्हारे पास?
बेटा : माँ मैं अपना सर्वश्रेष्ठ दे रहा हूं। मैं कड़ी मेहनत कर रहा हूँ।
मां : यदि आप मेहनत कर रहे हैं तो अन्य छात्र कैसे अच्छे मार्क्स लेकर आ रहे है, लेकिन तुम्हारे बहुत कम है।
बेटा : मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रहा हूं माँ । मुझे एक और मोका दो । मैं अगली परीक्षा में अच्छे मार्क्स लेकर आऊंगा।
मां : अच्छा ठीक है । लेकिन आने वाले परीक्षा में अच्छे मार्क्स नहीं मिले तो देखना।
बेटा : ठीक है माँ।

शिक्षक और छात्र के बीच संवाद Samvad lekhan Hindi grammar for class 7

शिक्षक: रमेश क्या तुम्हने होमवर्क किया है?
रमेश: नहीं मैम मैंने नहीं किया है।
शिक्षक: रमेश तुम मेरे क्लास में एक ही ऐसे छात्र हो जो कभी अपना होमवर्क नहीं करता है।
रमेश: सॉरी मैम, लेकिन मैं आउट ऑफ स्टेशन था।
शिक्षक: मुझे बेवकूफ बनाने की कोशिश मत करो। मुझे पता था की तुम घर पे ही थे।
रमेश: मैम मैं झूठ नहीं बोल रहा हूं। मैं वास्तव में आउट ऑफ स्टेशन था।
शिक्षक: मुझे कुछ नहीं सुन्ना। तुम क्लास से बाहर निकलो।

Read more- Complete Letter Writing in Hindi with 50+ Examples

हिंदी व्याकरण कक्षा 7 के लिए बहुविकल्पीय प्रश्न (Multiple Choice Questions for Hindi Grammar for class 7)

Hindi Grammar for class 7
Hindi Grammar for Class 7

1.निश्चयवाचक सर्वनाम कोनसा है- A कौन       B कोई       C वह          D कुछ

2. सर्वनाम के कितने मुख्या भेद हैं। – A 4           B 11         C 8             D 6

3. वह गाय चारने जाएगा सर्वनाम पहचानो – A अन्यपुरुष    B निश्चयवाचक   C संबंधवाचक  D अनिश्चयवाचक 

4. जो शब्द किसी संज्ञा या सर्वनाम की विशेषता बताता हो- A क्रिया     B संज्ञा      C विशेषण      D सर्वनाम

5. ‘पशु’ शब्‍द का विशेषण क्‍या है? A पशुता         B पाशविक     C पशुत्‍व         D पशुपति    

6. ‘उत्‍कर्ष’ का विशेषण क्‍या होगा? A अवकर्ष          B उत्‍कीर्ण       C अपकर्ष          D उत्‍कृष्‍ट

7. क्रिया के मुख्या भेद कितने है‍ं? A तीन       B चार      C दो        D पांच 

8. ‘लोग रामायण पढते हैं’ क्रिया पहचानो A अकर्मक         B सकर्मक      C प्रेरणार्थक       D कोई नहीं   

9. भूतकाल के कितने भेद हैं – A पांच      B तीन      C चार        D छ:       

10. “अध्यापक ने भाषण दिया” वाक्य में काल है – A अपूर्ण भूतकाल    B  आसन्न भूतकाल       C संदिग्ध भूतकाल       D सामान्य भूतकाल   

11. “केतन जयपुर गया था” वाक्य में काल हैं – A सामान्य भूत    B आसन्न भूत    C पूर्ण भूत  D अपूर्ण भूत

12. रेश्मा दौड़ रही है।वाक्य में कौन सी क्रिया है। – A विशेषण    B अकर्मक    C संज्ञा         D सकर्मक

जवाब नीचे है

Answers for Multiple choice questions for class 7 grammar

1.C 2.D 3.A 4.C 5.A 6.D 7.C 8.B 9.D 10.D 11.C 12.B

Leave a Comment